62 countries including India demand fair investigation on Carona, proposal was presented at WHO World Health Assembly 73rd meeting | भारत समेत 62 देशों ने निष्पक्ष जांच की मांग की, वर्ल्ड हेल्थ असेंबली की 73वीं बैठक में प्रस्ताव पेश किया जाएगा

62 countries including India demand fair investigation on Carona, proposal was presented at WHO World Health Assembly 73rd meeting | भारत समेत 62 देशों ने निष्पक्ष जांच की मांग की, वर्ल्ड हेल्थ असेंबली की 73वीं बैठक में प्रस्ताव पेश किया जाएगा

  • प्रस्ताव में कहा गया है कि कोरोना रोकने के लिए किए गए डब्ल्यूएचओ के कामों और इसके लिए दी गई तय समय सीमा की जांच हो
  • जांच के लिए वर्ल्ड हेल्थ असेंबली के सदस्य देशों की सलाह से एक चरणबद्ध प्रक्रिया अपनाने की मांग की गई

My Web India

May 18, 2020, 10:52 AM IST

जेनेवा. ऑस्ट्रेलिया और यूरोपियन यूनियन (ईयू) कोरोना ने महामारी पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के जवाब की निष्पक्ष जांच की मांग की है। भारत समेत 62 देशों ने इसका समर्थन किया है। वर्ल्ड हेल्थ असेंबली की 73वीं बैठक में इससे जुड़ा एक प्रस्ताव रखा जाएगा। यह बैठक आज से शुरू होगी। प्रस्ताव में कोरोना को रोकने के लिए किए गए डब्ल्यूएचओ के कामों और इसके लिए तय की गई समय सीमा की भी जांच करने की मांग की गई है।

प्रस्ताव में कहा गया है कि जांच में सदस्य देशों को शामिल किया जाए। इन देशों की सलाह से जांच के लिए मौजूदा प्रणाली के साथ एक चरणबद्ध प्रक्रिया अपनाई जानी चाहिए।  महामारी से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किए गए काम से क्या अनुभव हासिल हुए, इसकी समीक्षा की जानी चाहिए। वर्ल्ड हेल्थ असेंबली, डब्ल्यूएचओ का ही हिस्सा है।

किन देशों ने किया प्रस्ताव का समर्थन
यूरोपियन यूनियन के समर्थन के साथ पेश किए गए जांच प्रस्ताव का समर्थन करने वाले प्रमुख देशों में जापान, ब्रिटेन, न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया, ब्राजील और कनाडा शामिल हैं। वर्ल्ड हेल्थ असेंबली की बैठक इस बार कोरोना को देखते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। भारत की ओर से इसमें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धधन शामिल होंगे। इस बैठक के दो दिन बाद ही 22 मई काे डब्ल्यूएचओ के एग्जीक्यूटिव बोर्ड की बैठक होगी। इसमें भारत को डब्ल्यूएचओ के फैसले पर निर्णय लेने वाले बोर्ड का प्रमुख बनाया जाएगा।
ऑस्ट्रेलिया जांच की मांग करने वाला पहला देश

ऑस्ट्रेलिया पहला ऐसा देश है, जिसने यह जांच करने की मांग की थी कि कोरोना दुनियाभर में कैसे फैला। ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मैरिस पेन ने पिछले महीने की यह मामला उठाया था। उन्होंने कहा था कि महामारी फैलने की जांच से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अगली महामारी को बेहतर ढंग से रोकने और अपने लोगों को सुरक्षित रखने में मदद मिलेगी। मुझे लगता है कि डब्ल्यूएचओ को कोरोना फैलने की जांच की इजाजत देना शिकारी को शिकार की रखवाली सौंपने जैसा है।

Mahmeed

Hello, My Name is Mahmeed and I am from Delhi, India. I am currently a full time blogger. Blogging is my passion i am doing blogging since last 5 years. I have multiple other websites. Hope you liked my Content.

Leave a Reply