पुलिस ने डॉक्टर का हाथ बांधकर बुरी तरह पीटा, पीपीई किट की कमी को लेकर की थी शिकायत

पुलिस ने डॉक्टर का हाथ बांधकर बुरी तरह पीटा, पीपीई किट की कमी को लेकर की थी शिकायत

पिछले महीने पीपीई किट की कमी के संबंध में शिकायत करने के बाद आंध्र प्रदेश सरकार ने डॉक्टर को निलंबित कर दिया था.

(फोटो: वीडियोग्रैब)

नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश के विजाग में पुलिस द्वारा एक डॉक्टर को घसीट कर बुरी तरह पीटने का मामला सामने आया है. इसे लेकर सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो वायरल हो रहे हैं. डॉक्टर का नाम के. सुधाकर है.

खास बात ये है कि इसी डॉक्टर ने पिछले महीने व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) की कमी के बारे में शिकायत की थी, जिसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था.

वीडियो में स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है कि सुधाकर के शरीर पर कोई कपड़ा नहीं है, उनके हाथों को पीठ के पीछे बांधा गया है और पुलिस द्वारा पीटा जा रहा है.

विजाग पुलिस ने आरोप लगाया है कि डॉक्टर ने शराब पी रखी थी और पुलिस के साथ बुरा बर्ताव किया था.

पुलिस कमिश्नर आरके मीणा ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा, ‘सुधाकर नशे की हालत में थे और उन्होंने पुलिस के साथ बुरा व्यवहार किया. उन्होंने एक कॉन्स्टेबल से मोबाइल फोन छीन लिया और उसे फेंक दिया. स्पष्ट रूप से वे कुछ मनोवैज्ञानिक समस्याओं से पीड़ित हैं.’

मीणा ने यह भी कहा कि सुधाकर को अब मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है, जिसके बाद डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा.

मुंबई मिरर की एक रिपोर्ट के मुताबिक सुधाकर को मेडिकल जांच के लिए किंग जॉर्ज अस्पताल ले जाया गया था.

अस्पताल ने अपने बयान में कहा, ‘डॉ. सुधाकर को शाम 6.30 बजे केजीएच कैजुअल्टी वार्ड में लाया गया था. गंध से पता चला कि वह नशे की हालत में थे. शराब के कारण वे हमारा सहयोग नहीं कर सके और सभी को गालियां देते रहे. फिर भी उनकी नब्ज, बीपी चेक की गई. पल्स 98, बीपी 140/100 था. अल्कोहल की मात्रा का पता लगाने के लिए ब्लड सैंपल को फॉरेंसिक लैब भेजा गया था.’

द न्यूज मिनट के अनुसार पुलिस कमिश्नर ने यह भी कहा कि सुधाकर की पिटाई करने वाले पुलिस कॉन्स्टेबल को निलंबित कर दिया गया है.

पीपीई किट की कमी की शिकायत के बाद आंध्र प्रदेश सरकार ने सुधाकर को पिछले महीने निलंबित कर दिया था.

उन्होंने एक वीडियो में कहा था, ‘हमें कहा गया है कि एक मास्क को 15 दिन इस्तेमाल करने के बाद नया मास्क मांगे. हम अपने जीवन को खतरे में डालकर मरीजों का इलाज कैसे कर सकते हैं?’

वे नरसीपट्टनम सरकारी अस्पताल में एक एनेस्थेसिओलॉजिस्ट के रूप में काम कर रहे थे और उनकी टिप्पणियों के बाद सरकार ने उन्हें निलंबित कर दिया था.

Categories: भारत, विशेष

Tagged as: Andhra Pradesh Government, Corona Crisis, Corona Pandemic, Doctor Attack, PPE Kit, Shortage of PPE Kit, Vizag Police, अस्पतालों में पीपीई किट कमी, आंध्र प्रदेश सरकार, कोरोना महामारी, कोरोना संकट, डॉक्टर पिटाई, पीपीई किट, विजाग पुलिस

Mahmeed

Hello, My Name is Mahmeed and I am from Delhi, India. I am currently a full time blogger. Blogging is my passion i am doing blogging since last 5 years. I have multiple other websites. Hope you liked my Content.

Leave a Reply