केरलः पटाखों से भरा अनानास खिला देने से गर्भवती हथिनी की मौत, मामला दर्ज

केरलः पटाखों से भरा अनानास खिला देने से गर्भवती हथिनी की मौत, मामला दर्ज

घटना अट्टापदी के साइलेंट वैली के बाहरी इलाके की है. गांव के कुछ शरारती तत्वों ने भूखी हथिनी को अनानास में पटाखे भरकर खिला दिए, जो उसके मुंह में ही फट गए, जिसके बाद 27 मई को उसकी मौत हो गई. पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की है, लेकिन किसी की गिरफ़्तारी नहीं हो सकी है.

वेलियार नदी में खड़ी हथिनी. (फोटो साभार: फेसबुक/मोहन कृष्णन)

मलप्पुरमः केरल के मलप्पुरम में एक गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा हुआ अनानास खिलाने का मामला सामने आया है. ये घटना अट्टापदी के साइलेंट वैली के बाहरी इलाके की है.

ये गर्भवती हथिनी खाने की तलाश में भटकते हुए 25 मई को जंगल के पास के गांव में आ गई थी. कुछ शरारती तत्वों ने हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया.

इसे खाते ही उसके मुंह में विस्फोट हुआ, जिस कारण उसका जबड़ा बुरी तरह से फट गया और दांत भी टूट गए. दर्द से तड़प रही हथिनी को जब कुछ समझ नहीं आया तो वह वेलियार नदी में जा खड़ी हुई.

दर्द को कम करने के लिए वह बार-बार पानी पीती रही, जिसके बाद 27 मई को उसकी मौत हो गई.

प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) और मुख्य वन्यजीव वॉर्डन सुरेंद्र कुमार ने बताया, ‘हथिनी के जबड़े टूट गए थे और वह कुछ भी खा नहीं थी. अनानास के भीतर भरे पटाखे उसके मुंह में ही फट गए. यह माना जा रहा है कि हथिनी को मारने के इरादे से ही उसे अनानास में पटाखे भरकर खिलाए गए.’

सुरेंद्र कुमार ने कहा कि हथिनी की मौत 27 मई को मलप्पुरम जिले में वेलियार नदी में हुई. उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम से पता चला है कि वह गर्भवती था.

उन्होंने कहा कि वन अधिकारियों को अपराधी को पकड़ने के निर्देश दिए गए हैं, दोषी को सजा दी जाएगी.

मालूम हो कि हथिनी की मौत का मामला तब सामना आया, जब वन अधिकारी मोहन कृष्णन ने बीते शनिवार को इस बारे में अपने फेसबुक पेज पर एक भावनात्मक पोस्ट लिखी.

कृष्णन हथिनी को बचाने के लिए मौके पर पहुंचे रैपिड रिस्पॉन्स टीम का हिस्सा थे. मोहन ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘जब मैने उसे देखा, वह नदी में खड़ी हुई थी, उसका सिर पानी में डूबा हुआ था. उसे पता चल गया था कि वह मरने वाली है. उसने खड़े-खड़े ही पानी में जलसमाधि ले ली. ‘

मलयालम में लिखी पोस्ट में मोहन ने आगे लिखा, ‘उसने सभी पर भरोसा किया. उसके मुंह में अनानास के फटने के बाद वह खुद के बारे में नहीं बल्कि अपने पेट में पल रहे बच्चे को लेकर परेशान हुई होगी, जिसे वह अगले 18 से 20 महीने में जन्म देने वाली थी.’

मोहन कृष्णन ने यह भी बताया है कि घायल हथिनी दर्द की वजह से पूरे गांव में घूमती रही लेकिन उसने एक भी घर नहीं कुचला.

इस मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है लेकिन अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है.

Categories: भारत, विशेष, समाज

Tagged as: Elephant, Environment, Forest officials, Kerala, Mallapuram, Mohan Krishnan, Pregnant Elephant, My Web India Hindi, केरल, गर्भवती हथिनी, My Web India हिंदी, मलप्पुरम, मोहन कृष्णन, वन अधिकारी, हथिनी, हाथी

Mahmeed

Hello, My Name is Mahmeed and I am from Delhi, India. I am currently a full time blogger. Blogging is my passion i am doing blogging since last 5 years. I have multiple other websites. Hope you liked my Content.

Leave a Reply